जाने-माने अर्थशास्त्री प्रोफेसर विवेक देवराय ने कहा- कोविड संकट से निपटने में भारत ने असाधारण नेतृत्व क्षमता का दिया परिचय

In News
Facebooktwitteryoutubeby feather

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद के अध्यक्ष व जाने-माने अर्थशास्त्री प्रोफेसर विवेक देवराय ने शुक्रवार को कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी संकट से निपटने में भारत ने असाधारण नेतृत्व क्षमता का परिचय दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भूमिका की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने न सिर्फ बेहद कुशल तरीके से इस वैश्विक संकट का सामना करते हुए भारत जैसे विशाल देश में बड़ी संख्या में लोगों को मौत के मुंह में जाने से बचाया बल्कि दुनियाभर के कई देशों को भी वैक्सीन देकर जन हानि से बचाने में मदद की। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत ने कोरोना काल में प्रवासी श्रमिकों से लेकर अर्थव्यवस्था समेत कई चुनौतियों का कुशलतापूर्वक सामना किया।

चीन पर दुनिया को गुमराह करने का आरोप

कोरोना संकट से निपटने में पीएम मोदी की भूमिका व इस महामारी से देश का बचाव पर आधारित प्रियम गांधी- मोदी द्वारा लिखित पुस्तक- ए नेशन टू प्रोटेक्ट का कोलकाता में विमोचन के मौके पर वे बोल रहे थे। इस पुस्तक के आवरण पृष्ठ पर पीएम की तस्वीर है और कोरोना से लडऩे में केंद्र सरकार के प्रयासों का इसमें लेखाजोखा है। देवराय ने इस दौरान जिक्र किया कि कानूनन स्वास्थ्य राज्य का मामला है लेकिन पीएम ने कोरोना संकट में देश का नेतृत्व किया और उन्होंने इस लड़ाई में किसी भी राज्य के साथ भेदभाव नहीं किया। देवराय ने इस दौरान चीन व विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) पर कोरोना को लेकर पूरी दुनिया को गुमराह करने का भी आरोप लगाया।

मोदी जैसा नेतृत्व नहीं रहता तो कोरोना काल में भारत की स्थिति बहुत बुरी होती : प्रियम गांधी

इस मौके पर किताब की लेखिका प्रियम गांधी- मोदी ने कहा कि यदि पीएम मोदी जैसा नेतृत्व नहीं रहता तो कोरोना काल में भारत की स्थिति बहुत बुरी होती। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में विपक्ष से लेकर कई देश विरोधी ताकतों ने विभिन्न प्रकार का प्रोपगेंडा चलाया और गलत जानकारियां फैलाई। लेकिन पीएम ने जिस तरह नेतृत्व क्षमता दिखाई और संकट का सामना किया, आज आज अमेरिका, ब्रिटेन व जापान जैसे विकसित देश भी इसका लोहा मान रहे हैं।

कोविड के मामले में आज भारत कई देशों से अच्छी स्थिति में

गांधी ने आगे कहा कि कोविड के मामले में आज भारत कई विकसित देशों की तुलना में काफी अच्छी स्थिति में है क्योंकि हमारी लीडरशिप ने सही फैसले लिए। आज देश में 190 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज लग चुकी है, यह साधारण बात नहीं है।यदि दूसरी सरकार रहती तो लोग 10 साल बाद वैक्सीन मिलने की बात सोचते। गांधी ने इस दौरान बंगाल व महाराष्ट्र सरकार की भी आलोचना की और कहा कि उन्होंने केंद्र सरकार पर कोविड के दौरान विपक्ष शासित राज्यों के साथ भेदभाव आदि के कई आरोप लगाए लेकिन बाद में इन्हीं राज्यों ने अखबारों में विज्ञापन देकर दावा किया कि टीकाकरण में उनके राज्य नंबर वन हैं।पुस्तक विमोचन के मौके पर पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी, श्यामा प्रसाद मुखर्जी रिसर्च फाउंडेशन के निदेशक डा अनिर्बान गांगुली व शिक्षाविद् प्रोफेसर अभिजीत चक्रवर्ती भी मौजूद थे और सभी ने इस पुस्तक की प्रशंसा की। इन सभी ने कहा कि इस पुस्तक को राजनीतिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए बल्कि यह पूरी तरह सच्चाई पर आधारित है।

बेस्ट सेलर में शामिल है यह पुस्तक

इस पुस्तक की लेखिका प्रियम गांधी- मोदी ने बताया कि मुंबई, दिल्ली के अलावा कई दूसरे देशों में तीन महीने पहले ही इस पुस्तक का विमोचन हो चुका है। यह पुस्तक बेस्ट सेलर में भी शामिल है। उन्होंने बताया कि इस पुस्तक पर एक फिल्म (वेब सीरिज) भी बन रही है। यह जल्द रिलीज होगी। अगले हफ्ते इस पुस्तक का हिंदी संस्करण ‘राष्ट्र रक्षा सर्वोपरि’ भी आ जाएगा

Facebooktwitteryoutubeby feather
In News
“চটি পরে চার্টার্ড প্লেনে চড়ে গোয়া, চেন্নাই যাচ্ছেন একজন”, বললেন অনির্বাণ গাঙ্গুলি

Post Views: 26 কলকাতা: শনিবার সকালে অরুণাচল প্রদেশের ইটানগরের কাছে হলঙ্গী নামক একটি জায়গায় গ্রিনফিল্ড বিমানবন্দর উদ্বোধন করেছেন প্রধানমন্ত্রী নরেন্দ্র মোদী। এই বিমানবন্দরের ফলে দেশের বিভিন্ন মহানগরীগুলোর সঙ্গে অরুণাচল প্রদেশের যোগাযোগ ব্যবস্থাকে মজবুত করার জন্য এই বিমানবন্দর অত্যন্ত কার্যকর হবে বলে ধারণা করা হচ্ছে। অরুণাচলের এই প্রথম বিমানবন্দরের ফলে পশ্চিমবঙ্গে …

In News
মুখ্যমন্ত্রী ও তাঁর দল কি আদৌ আদিবাসীদের কথা ভাবেন, প্রশ্ন তুললেন অনির্বাণ

Post Views: 30 দেবী ভট্টাচার্য, কলকাতা: সাড়ে তিন বছর আগে গরমের এক দুপুরে আচমকা জঙ্গলমহলে শুকিয়ে গিয়েছিল শাসকের মুখের হাসি৷ পরিবর্তে ঝাড়গ্রাম, পুরুলিয়া, বাঁকুড়ার রুক্ষ-তল্লাটে উঠেছিল গেরুয়া আবিরের ঝড়৷ একুশের বিধানসভায় শাসক সেই ড্যামেজ কন্ট্রোলে সক্ষম হলেও এলাকার বর্তমান রাজনৈতিক চিত্র অন্য আভাস দিচ্ছে৷ উনিশের লোকসভা ফলের পুনরাবৃত্তি তেইশের পঞ্চায়েতে …

In News
তিলোত্তমায় অনুষ্ঠিত হল বিরসা মুন্ডার জন্মজয়ন্তী এবং জনজাতি গৌরব দিবস

Post Views: 33 কলকাতা: আজ মঙ্গলবার ১৫ নভেম্বর, ভারতের স্বাধীনতা সংগ্রামের ইতিহাসের অন্যতম বীর বিরসা মুন্ডার জন্মজয়ন্তী। এই উপলক্ষ্যে সোমবার সন্ধ্যায় ডঃ শ্যামাপ্রসাদ মুখার্জি ফাউন্ডেশন ও অঙ্কুরের যৌথ উদ্যোগে কলকাতার আইসিসিআর সভাগৃহে অনুষ্ঠিত হল বিরসা মুন্ডার জন্মজয়ন্তী এবং জনজাতি (Janajati) গৌরব দিবস উপলক্ষ্যে বিশেষ আলোচনা চক্র। আলোচনা সভায় বক্তারা ছিলেন, …